प्लेगरिज्म क्या है | What is plagiarism in Hindi 2022

Plagiarism  एक ऐसा शब्द है, जिस को आप ने कभी न कभी जरुर सुना होगा और आज के डिजिटल समय में ये शब्द बहुत जादा पॉपुलर है, जो लोग ब्लॉगिंग करते या ब्लॉगिंग के फील्ड से है उनको प्लेगरिज्म के बारे में जरुर पता होगा क्यूंकि अगर आप ब्लॉगिंग करते है और आप के कंटेंट या आर्टिकल में प्लेगरिज्म होगा तो आप का आर्टिकल google सर्च में नही आएगा और google आप के वेबसाइट को सर्च रिजल्ट में शो नही करेगा और हो सकता है वो वेबसाइट को ब्लैकलिस्ट भी कर सकता है|

जब आप google पर कुछ भी सर्च करते है,तो आप के समाने बहुत सी जानकारी या रिजल्ट आ जाता है और ये जानकारी बहुत सारी वेबसाइट ने डाला होता है, जब भी आप कोई वेबसाइट ओपन करते है तो उस वेबसाइट में कंटेंट बाकि के वेबसाइट से अलग होता है, कोई कंटेंट एक जैसा नही होता है|

लेकिन कई बार ऐसा हो सकता है की कुछ वेबसाइट किसी अन्य वेबसाइट के कंटेंट को कॉपी कर के अपने वेबसाइट पर पब्लिश कर दिए हो और इसी को आशन शब्दों में हम Plagiarism कहते है या Plagiarism Content भी कहा जाता है|

तो इस पोस्ट में हम आप को बताने वाले है की प्लेगरिज्म क्या है और इस के वजह से किसी भी वेबसाइट की google सर्च रैंकिंग कैसे प्रभावित होता है|

प्लेगरिज्म क्या होता है? (What is plagiarism in Hindi)

Plagiarism शब्द का अगर हिंदी में अनुवाद करे तो इस का मतलब होता है “साहित्यिक चोरी” | या आशान शब्दों में कहे तो इस का ये मतलब हुआ की कॉपी करना या नक़ल करना | अर्थात अगर कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार के आर्टिकल या कंटेंट को पूरा का पूरा कॉपी कर के अपने वेबसाइट के आर्टिकल या कंटेंट में डालता है या पब्लिश करता है, तो उसे Plagiarism कहते है|

यदि कोई भी व्यक्ति आर्टिकल के owner से बिना permission लिए उस के आर्टिकल या कंटेंट में बिना किसी बदलाव करे पूरा कॉपी कर के अपने वेबसाइट पर पब्लिश कर देता है तो उसे भी Plagiarism कहते है|

आज के इस डिजिटल दुनिया में Plagiarism का सबसे जादा उपयोग यूज़ वेबसाइट या ऐ कहे की  ब्लॉगिंग फील्ड में होता है, क्यूँ की youtube या google से लोग ब्लॉगिंग के बारे में आधी अधूरी जानकारी लेके अपनी वेबसाइट बना लेते है और बिना आर्टिकल राइटिंग या कंटेंट कैसे लिखा जाता है जाने या सीखे ही दूसरो की वेबसाइट से कंटेंट या आर्टिकल कॉपी पेस्ट कर के अपनी वेबसाइट पर पब्लिश कर देते है और ऐसा करने से सिर्फ उनका ही नुकशान है क्यूंकि google उनकी वेबसाइट को Plagiarism होने की वजह से रैंक या सर्च रिजल्ट में दिखता ही नही है और वो सिर्फ बिना मतलब का अपना टाइम ख़राब करते है अगर google के सर्च रिजल्ट में आना है किसी भी वेबसाइट को तो उस वेबसाइट पर यूनिक या बाकि वेबसाइट से बिकुल अलग होना चाहिए तभी वो सर्च रिजल्ट में आएगा |

प्लेगरिज्म के क्या क्या नुकसान है? (Disadvantages of plagiarism)

जैसा की हम ने आप को बता दिया की Plagiarism क्या होता है और अब जानते है की प्लेगरिज्म के क्या क्या नुकसान हो सकता है और ऐ कैसे वेबसाइट के रैंकिंग को कम कर देगा

  • सबसे पहले आगर कोई भी व्यक्ति किसी भी वेबसाइट से कॉपी पेस्ट कर रहा है तो वो एक कानूनन अपराध है और उस आर्टिकल या कंटेंट का असली मालिक या owner जुर्माना लगा सकता है और केस कर के जेल भी भेजवा सकता है |
  • SEO (Search Engine Optimization) के लिए आर्टिकल या कंटेंट यूनिक होना चाहिए | अगर आप भी कॉपी पेस्ट कर के आर्टिकल अपने वेबसाइट पर पब्लिश करते है तो google सर्च रिजल्ट में आप की वेबसाइट नही आएगा और google का Algorithm आप के वेबसाइट को बैन कर सकता है|
  • Adsense का अप्रूवल नही मिल सकता है अगर आप भी plagiarism आर्टिकल अपनी वेबसाइट पर पब्लिश करते है तो google plagiarism कंटेंट या आर्टिकल जो कॉपी पेस्ट करे हुए है उस वेबसाइट को Adsense approval नही देता और वो वेबसाइट मोनेटाइज नही होगा और उस पर एड्स नही आएगा फिर पैसे भी नही कमा सकते है लेकिन अगर पहले से ही Adsense approved है तो google उस को बैन कर देता है और उस वेबसाइट पर फिर से Adsense का approval नही मिल सकता है |
  • google उस वेबसाइट को हमेशा के लिए बैन या ब्लैकलिस्ट भी कर देता है जिस पर plagiarism कंटेंट होता है |
  • अगर आप के वेबसाइट पर भी plagiarism कंटेंट या आर्टिकल है तो जो रीडर उस को पढ़ेगा उस का एक्सपीरियंस अच्छा नही होगा क्यूंकि वही कंटेंट किसी और वेबसाइट पर पहले से ही है और इसे रीडर वेबसाइट पर दोबारा नही आएगा और वेबसाइट की ट्रैफिक डाउन हो जायेगा |

प्लेगरिज्म से कैसे बचे?

अब हम आप को बताने वाले है की आप कैसे plagiarism कंटेंट से बचे रह सकते है

  • Plagiarism से बचने का सबसे आशान और अच्छा तरीका यह है की आप को खुद अपना आर्टिकल या कंटेंट खुद लिखे और जब आप खुद मेहनत कर के अपना दिमाग लगा के लिखेंगे तो कंटेंट या आर्टिकल पूरा यूनिक होगा और जब आप उस को अपने वेबसाइट पर पब्लिश करेंगे तो google भी उस को अपने सर्च रिजल्ट में दिखायेगा और आप के वेबसाइट पर भी ट्रैफिक आएगा |
  • जब भी आप खुद आर्टिकल लिखने बैठे तो जिस भी टॉपिक पर आर्टिकल लिखना उस पर अछे से रिसर्च करे, रिसर्च के लिए आप google , youtube और समाचार पत्र को पढ़ सकते है अछे से रिसर्च कर के ही आप किसी भी टॉपिक पर आर्टिकल लिखे तब भी वो Plagiarism फ्री होगा |
  • जब भी आप आर्टिकल लिख ले तो पब्लिश करने से पहले ये जरुर चेक करे की उस में कोई भी Plagiarism तो नही है और Plagiarism को आप ऑनलाइन टेस्टिंग टूल से भी टेस्ट कर सकते है की आप के कंटेंट या आर्टिकल में कोई Plagiarism तो नही है और जब Plagiarism न हो तभी उस को अपने वेबसाइट पर पब्लिश करे |

Top Free Plagiarism checker tools

ऑनलाइन बहुत से फ्री और पेड टूल मिल जायेगा जिस से आप अपने कंटेंट या आर्टिकल का Plagiarism चेक कर सकते है, हम आप को कुछ टूल के बारे में बताने वाले है जिन की हेल्प से Plagiarism चेक कर सकते है |

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में हम ने आप को बताया है, प्लेगरिज्म क्या है और आप प्लेगरिज्म से कैसे बच सकते है हमें आशा है की आप को यह जानकारी अच्छा लगा होगा और अब आप भी अपने वेबसाइट पर Plagiarism फ्री आर्टिकल या कंटेंट पब्लिश कर सकते है और google के सर्च रिजल्ट में आप की भी वेबसाइट आएगी और ग्रो करेगी |

क्या plagiarism content डालकर गूगल ऐडसेंस का अप्रूवल लिया जा सकता है?

जी नही कोई भी व्यक्ति plagiarism content डालकर गूगल ऐडसेंस का अप्रूवल नही ले सकता है क्यूंकि google उस को रिजेक्ट कर देगा रिव्यु में |

क्या plagiarism content पब्लिश करने से google adsense ban हो सकता है?

जी हाँ अगर आप अपने वेबसाइट पर plagiarism content पब्लिश करते है तो आप के वेबसाइट के साथ-साथ google adsense भी बैन हो सकता है |

क्या plagiarism content पब्लिश करेंगे तो हमरी वेबसाइट google के सर्च में शो होगी ?

नहीं अगर आप अपने वेबसाइट पर plagiarism content पब्लिश करते है तो आप की वेबसाइट google के सर्च रिजल्ट में शो नही होगी क्यूंकि की वो कॉपी कंटेंट है जो पहले से ही किसी अन्य वेबसाइट पर मोजूद है |

Leave a Comment